Sunday, Jul 14 2024 | Time 09:11 Hrs(IST)
 logo img
  • हजारीबाग: अंचल कर्मियों की लापरवाही के कारण पीएम किसान सम्मान निधि योजना से वंचित है कई किसान
  • Jharkhand Weather: झारखंड में सक्रिय हुआ मानसून, पिछले 24 घंटों में कई जगहों में हुई जबरदस्त बारिश; जानें आज के मौसम का हाल
  • क्या आप भी गांव में रहकर खोलना चाहते हैं स्टार्टअप? मदद के लिए सरकार खर्चेगी 750 करोड़ रुपये, जानें क्या है प्लान
  • क्या आप भी गांव में रहकर खोलना चाहते हैं स्टार्टअप? मदद के लिए सरकार खर्चेगी 750 करोड़ रुपये, जानें क्या है प्लान
  • Railway Rules: अब टिकट होते हुए भी इन यात्रियों को ट्रेन से उतार सकता है टीटी, जान लें ये नए नियम
खाना-खजाना


आदिवासी महोत्सव के दौरान आनंद लीजिए, इन पांच पारंपरिक आदिवासी व्यंजनों का, जो हेल्दी के साथ हैं टेस्टी भी

आदिवासी महोत्सव के दौरान आनंद लीजिए, इन पांच पारंपरिक आदिवासी व्यंजनों का, जो हेल्दी के साथ हैं टेस्टी भी
न्यूज 11 भारत

रांची/डेस्क: राज्य में आदिवासी महोत्सव की धूम है. आदिवासी गैर आदिवासी सब इस महोत्सव को लेकर बहुत उत्सुक दिखाई पड़ रहें हैं. आदिवासी जनजातीय लोगों की सबसे बड़ी खूबी है कि वो लोग हमारे आपकी तरह अपने बड़े से अपार्टमेंट के छोटे से कमरे में कैद हो कर नहीं रहते. न हीं हमारी तरह प्रकृति से दूर होते हैं और ना हीं उनका खानपान हमारी तरह पौष्टिकता को छोड़ बस जंक फूड तक सीमित रहता है. वो प्रकृति की गोद में ऐसे बच्चे की तरह चिपके हुए है जो कभी बड़ा ही नहीं हुआ. ऐसे में न्यूज 11 भारत आप को बताना चाहता है कुछ बेहतरीन आदिवासी व्यंजनों के बारे में ताकि आप भी ले सकें झारखंड के पारंपरिक स्वाद का आनंद. आमतौर पर झारखंड के आदिवासियों का भोजन काफी प्राकृतिक होता है जिसमें भरपूर मात्रा में पौष्टिकता पाई जाती है. आइए आनंद लेते हैं  इन पांच आदिवासी व्यंजनों का जिसे खा कर आप वाह-वाह करेंगें. 

मीट जैसी स्वादिष्ट,  शाकाहारी रुगड़ा की सब्जी

 

 

अगर आप नए-नए शाकाहारी बने हैं और मीट खाने की तलब अभी भी होती रहती है तो ऐसे में स्वादिष्ट शाकाहारी रुगड़ा की सब्जी आपके लिए एक बहुत अच्छा विकल्प है.  झारखंड के रांची, खूंटी, लोहरदगा, गुमला, सिमडेगा, सिंहभूम, चतरा जिले में बड़े पैमाने पर रुगड़ा पाया जाता है. यह छोटे-छोटे आलू की तरह होता है. एक तरह से ये भी मशरूम की एक प्रजाति है जो जमीन के नीचे पाई जाती है. ये बारिश के मौसम में पाया जाता है. इसे बिलकुल मटन और चिकेन की तरह ही पकाया जाता है. यह काफी पौष्टिक है,इसमें प्रोटीन और फाइबर अधिक मात्रा में होती है. यह दो प्रकार का होता है- चंदना रुगड़ा और सफेद रुगड़ा. तो बस ले आइए आज रुगड़ा और लीजिए आनंद इस शाकाहारी मीट का. 

 

सुबह के नाश्ते में धुस्का का स्वाद लेना न भूलें

 


अगर सुबह आ्प ऑफिस के लिए निकल रहे हैं तो धुस्का एक बेहतरीन नाश्ता हो सकता है. यह पूरा समय आपको भरा-भरा सा फील देगा, साथ हीं यह काफी पौष्टिक है. यह चावल, चना दाल, उड़द दाल, जीरा, लाल मिर्च पाउडर, हल्दी पाउडर, बैकिंग सोडा से तैयार होता है. चावल, चने की दाल और उड़द दाल को दो से तीन घंटे पानी में भिंगोकर रखने के बाद इसे पीसकर बारीक कर लिया जाता है. इसके बाद इसमें जीरा, लाल मिर्च पाउडर, नमक, हल्दी पाउडर और बेकिंग सोडा को मिला कर तेल में इसे गोल्डन ब्राउन होने तक फ्राई किया जाता है.इस का लुत्फ आप चटनी या सब्जी के साथ उठा सकते हैं. ये हेल्दी और बेहतरीन नाश्ता है. 

 

गुड़ व चावल से बनाइए स्वादिष्ट अरसा रोटी

 


स्वास्थय के नजरिए से गुड़ के बेहतरीन गुण तो सबको पता हीं है. आदिवासी घरों में चावल और गुड़ से अरसा रोटी बनाने का चलन है. चावल को करीब छह घंटे तक पानी में भिंगोने के बाद पीसकर आटे की तरह गूंथ लिया जाता है. इसके बाद गुड़ का पाग बना कर इसमें इसके छोटे छोटे टुकड़ों को छान लिया जाता है.जायका बढ़ाने के लिए इसमें सौंफ, नारियल का बुरादा, किशमिश और तिल आदि भी मिलाया जाता है. इसे ठंडा कर खाया जाता है. 






सेहत के लिए फायदेमंद बांस की सब्जी

 


क्या आप जानते हैं कि बांस की भी सब्जी भी बनती है और इसे बेहद चाव के साथ खाया भी जाता है. आदिवासी घरों में बासं के नर्म अंकुरों से सब्जी बनाई जाती है. इसे छोटे-छोटे पीस में काट कर पानी में डालकर उबाला जाता है.उबाल देने से यह कड़वा नहीं लगता .इसके बाद लहसुन, अदरक और अन्य मसाले डालकर इसे सब्जी की तरह पकाया जाता है.यह काफी पौष्टिक व्यंजन माना जाता है. 

 

पर्व-त्योहार पर खाइए चावल का स्वादिष्ट पीठा

 


आदिवासी समुदाय के लोग पर्व त्योहार के मौके पर चावल का पीठा बनाते हैं. यह झारखंड का स्वादिष्ट व्यंजन माना जाता है. इसे चावल के आटा से तैयार किया जाता है. इसमें चावल के गोले के अंदर दाल और सब्जी भरी जाती है. कई जगह इसमें नारियल, गुड़ और तिल भी भर कर बनाया जाता है. जिसे मीठा पीठा कहा जाता है. ये खाने में स्वादिष्ट होने के साथ-साथ काफी पौष्टिक होता है. 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

अधिक खबरें
परवल खाने के हैं कई फायदे, चेहरे की ग्लो बढ़ाने में करता है मदद, दवा से कम नहीं इसका प्रयोग
जुलाई 03, 2024 | 03 Jul 2024 | 4:53 PM

परवल हर घर में सामान्य रुप से बनने वाली एक हरी सब्जी है, स्वाद में टेस्टी होने के साथ साथ सेहत से संबंधित इसके और भी कई फायदे हैं. आइए जानते हैं परवल के फायदे..

अगर आपके पास आज भी हैं 2000 के नोट, तो ऐसे करवा सकते हैं जमा, ये है पूरी प्रक्रिया..
जुलाई 01, 2024 | 01 Jul 2024 | 8:00 AM

2023 के मई के महीने में आरबीआइ ने 2000 रुपए के नोटों को बंद करने की बात कही थी उस समय मार्केट में कुल 3.56 लाख करोड़ रुपए की 2000 के नोट मौजूद थे

अगर आप भी चाहते हैं अपने बच्चों की लंबाई बढ़ाना तो डाइट में शामिल करें ये फल..
जून 25, 2024 | 25 Jun 2024 | 6:44 PM

बच्चों की हाइट न बढ़ने से आप भी हैं परेशान तो आप इस लेख में दी गई जानकारी के अनुसार अपने बच्चों की लंबाई बढ़ा सकते हैं. अगर आप भी अपने बच्चे की हाईट बढ़ाना चाहते हैं तो डाइट में इन 5 फलों को शामिल करना जरुरी है.

झारखंड में फलों की खेती, बड़े पैमाने पर हो रहा उत्पादन
जून 21, 2024 | 21 Jun 2024 | 10:43 PM

झारखंड सालों से अपने नाशपाती, शरीफा और पपीते की खेती के लिए जाना जाता रहा है. लेकिन पिछले एक दशक से झारखंड में इन फलों के साथ अन्य कई फलों की खेती भी शुरू हुई है. अब यहां से अमरूद और आम की बड़े पैमाने पर खेती शुरू हो गई है. इलाहाबादी अमरूद के साथ यहां बड़े आकार के हाई ब्रिड अमरूद की खेती हो रही है. इसके साथ बेर की खेती भी राज्य में होने लगी है.

अचानक दोगुने से भी ज्यादा हो गए फल और सब्जियों के दाम, आखिर क्या है वजह आइए जानते हैं..
जून 21, 2024 | 21 Jun 2024 | 8:14 PM

एक हप्ते में टमाटर के दाम 25 से 30 रुपए किलो से 40 से 50 रुपए किलो तक पहुंच गई. नींबू के भी दाम 80-100 रुपए से अचानक बढ़कर 160 रुपए हो गई. फल औऱ सब्जियों के भी दाम में इजाफा देखा जाने लगा है. पिछले एक हप्ते की बात करें तो ज्यादातर सब्जियों के दाम दोगुना से भी ज्यादा बढ़ गए हैं. फल के भी दामों में बढ़ोत्तरी देखने को मिला है. साथ ही दाल के भी दाम में 11 प्रतिशत का इजाफा देखा गया है.