Friday, Mar 1 2024 | Time 09:06 Hrs(IST)
 logo img
  • दो सगे भाइयों को खेलने के दौरान काटा जहरीला सांप, इलाज के दौरान एक भाई की मौत
  • सीसीएल में बीएंडके और ढोरी एरिया में 22 सेवानिवृत्त कर्मियों को दी गई विदाई
  • बोकारो के चास में पुपनकी रेलवे ओवर ब्रिज के पास चलती ट्रक पर लगी आग
  • Jharkhand Weather Update: झारखंड में फिर छाएंगे बादल, ठंड से मिलेगी थोड़ी राहत
झारखंड


बड़कागांव कांड संख्या 135 ऑफ 2016 में एडीएम रहे कुमूद झा समेत अन्य के खिलाफ समन जारी

पांच लोग पाये गये हैं दोषी
बड़कागांव कांड संख्या 135 ऑफ 2016 में एडीएम रहे कुमूद झा समेत अन्य के खिलाफ समन जारी
न्यूज11 भारत




रांचीः हजारीबाग जिले के बड़कागांव थाना में दर्ज कांड संख्या 135/16 मामले पर अदालत ने पुलिस पदाधिकारियों समेत कई को दोषी पाया है. मामले की सुनवाई के बाद ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट शिवानी शर्मा की कोर्ट ने पुलिस अधिकारियों को प्रथम दृष्टया दोषी मानते हुए संज्ञान लिया है. संज्ञान लेने के साथ हजारीबाग कोर्ट ने तत्कालीन थानेदार इंस्पेक्टर रामदयाल मुंडा, तत्कालीन थानेदार अकील अहमद,तत्कालीन कार्यपालक दंडाधिकारी कुमुद झा,तत्कालीन इंस्पेक्टर अखिलेश सिंह, एनटीपीसी के तत्कालीन महाप्रबंधक टी गोपाल कृष्ण पर धारा 166,166 ए,167 218 और 220 में संज्ञान लेते हुए समन जारी करने का आदेश दिया है.

 


 

अधिवक्ता अनिरुद्ध कुमार,पवन यादव,रंजन कुमार ने कोर्ट को बताया कि परिवादवाद में दर्ज सभी आरोपी अधिकारी स्वयं अपने अपराध को अपने बयानों, केस रिकॉर्ड में उपलब्ध साक्ष्यों और कोर्ट गवाही में स्वीकरोक्ति बयानों से स्पष्ट कर चुके हैं. मामले के इंफारमर मंटू सोनी ने कोर्ट को बताया कि परिवादवाद संख्या 2252/15 के मामले में एफआईआर करने के कोर्ट के आदेश को पेंडिंग रखते हुए रामदयाल मुंडा ने पद का दुरूपयोग कर आपराधिक साजिश कर कार्यपालक दंडाधिकारी कुमुद झा के हस्तलिखित आवेदन को बदल दिया. इसमें उन्हें और 29 अन्य लोगों को अभियुक्त बनाया गया. जिसकी पुष्टि खुद रामदयाल मुंडा ने केस डायरी के पैराग्राफा एक में कुमुद झा द्वारा हस्तलिखित आवेदन प्राप्त होने की बात लिख कर की है.

 

वहीं कुमुद झा ने कोर्ट में अपने बयान में पुष्टि करते हुए कहा था उनके लिखित आवेदन को बदलकर थानेदार ने अपने मुंशी से टाइप करवाकर एफआईआर किया था. एफआईआर और कोर्ट में कुमुद झा का अलग-अलग सिग्नेचर है. एफआईआर कॉपी में सिग्नेचर और डेट लिखावट कोर्ट में किए सिग्नेचर और डेट लिखावट में फर्क स्पष्ट नजर आ रहा है. इस प्रकरण में मंटू सोनी ने हज़ारीबाग़ सदर सीजीएम ऋचा श्रीवास्तव की अदालत में परिवादवाद संख्या 1644/22 दायर किया था. जिसके बाद परिवादवाद ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट शिवानी शर्मा की कोर्ट में ट्रांसफर किया गया.
अधिक खबरें
झारखंड के 10 IAS अफसरों को सरकार ने दी प्रोन्नति
फरवरी 29, 2024 | 29 Feb 2024 | 8:30 PM

झारखंड में चंपाई सरकार ने 10 IAS अधिकारियों को प्रोन्नति दी है. इसे लेकर झारखंड सरकार, कार्मिक, प्रशासनिक सुधार तथा राजभाषा विभाग ने अधिसूचना जारी की है जिसमें प्रोन्नति आईएएस अधिकारियों के नाम की लिस्ट है.

नीतीश कुमार तय करेंगे झारखंड में JDU की सीटें
फरवरी 29, 2024 | 29 Feb 2024 | 7:59 PM

आइएनडीआईए गठबंधन से एनडीए के पाले में आ चुके जदयू की बांछे खिली हुई है. जदयू अब झारखंड में इत्मीनान वाली जमात में शामिल हो चुकी है. जदयू को लग रहा है कि झारखंड से उनके एक ना एक उम्मीदवार का लोकसभा जाने का रास्ता लगभग साफ हो गया है.

झारखंड कैबिनेट की बैठक में सरकार ने 40 प्रस्तावों पर लगाई मुहर
फरवरी 29, 2024 | 29 Feb 2024 | 7:12 AM

झारखंड प्रोजेक्ट भवन में सीएम चंपाई सोरेन की अध्यक्षता में झारखंड कैबिनेट की बैठक चल रही है. इस बैठक में सरकार ने 40 प्रस्तावों पर अपनी मुहर लगाई है.

Jharkhand Assembly Budget Session: जामताड़ा रेल हादसे में मृतकों के परिजनों के लिए मुआवजे की मांग का उठा मामला, सदन की कार्यवाही 1 मार्च की सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित
फरवरी 29, 2024 | 29 Feb 2024 | 10:55 AM

झारखंड विधानसभा का बजट सत्र चल रहा है. आज विधानसभा का बजट सत्र का पांचवां दिन है. इस सत्र में आज भी सदन में कई मुद्दों को लेकर शोर के आसार हैं.

अवैध खनन मामले में पंकज मिश्रा के सहयोगी भगवान भगत की डिस्चार्ज पिटीशन पर सुनवाई पूरी
फरवरी 29, 2024 | 29 Feb 2024 | 6:09 PM

साहिबगंज में 1000 करोड़ की अवैध खनन से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पंकज मिश्रा के सहयोगी भगवान भगत की डिस्चार्ज पिटीशन पर सुनवाई पूरी हुई.