Sunday, Jul 14 2024 | Time 11:02 Hrs(IST)
 logo img
  • अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति पर फायरिंग, बाल-बाल बचे Donald Trump, देखें Video
  • हजारीबाग: अंचल कर्मियों की लापरवाही के कारण पीएम किसान सम्मान निधि योजना से वंचित है कई किसान
  • Jharkhand Weather: झारखंड में सक्रिय हुआ मानसून, पिछले 24 घंटों में कई जगहों में हुई जबरदस्त बारिश; जानें आज के मौसम का हाल
  • क्या आप भी गांव में रहकर खोलना चाहते हैं स्टार्टअप? मदद के लिए सरकार खर्चेगी 750 करोड़ रुपये, जानें क्या है प्लान
  • क्या आप भी गांव में रहकर खोलना चाहते हैं स्टार्टअप? मदद के लिए सरकार खर्चेगी 750 करोड़ रुपये, जानें क्या है प्लान
  • Railway Rules: अब टिकट होते हुए भी इन यात्रियों को ट्रेन से उतार सकता है टीटी, जान लें ये नए नियम
NEWS11 स्पेशल


गणतंत्र दिवस पर सुनें देशभक्ति से भरे ये गाने, साल बीते लेकिन नहीं उतरा खुमार

गणतंत्र दिवस पर सुनें देशभक्ति से भरे ये गाने, साल बीते लेकिन नहीं उतरा खुमार
न्यूज़11 भारत

रांची/डेस्क: आज देश अपना 75वां गणतंत्र दिवस मना रहा है. भारत को 26 जनवरी 1950 अपना संविधान मिला था. गणतंत्र दिवस को लेकर पुरे देश में उत्साह का माहौल है. जिसे बनने में तकरीबन 2 साल 11 महीने और 18 दिन का समय लगा था.आज नई दिल्ली के कर्तव्य पथ पर भव्य परेड निकाली जाएगी.परेड में अर्धसैनिक बलों, सशस्त्र बलों, और पुलिस के मार्च-पास्ट के साथ-साथ भारतीय वायु सेना के फ्लाई-पास्ट और मोटरसाइकिल टीम के साहसी करतब भी शामिल होंगे. कई देश भक्त गणतंत्र दिवस को देश भक्ति गाने सुनकर भी मनाते है. तो आइये आज हम आपको कुछ देशभक्ति गानों के बारे में बताते है जिसे सुनकर आपकी रगों में भी देशभक्ति दौड़ेगी. 

 

 

1. कर चले हम फिदा जाने तन साथियों

 

हक़ीकत फ़िल्म 1964 में आई थी. जिसे लोगों ने काफ़ी पसंद किया था.इस फिल्म में सैनिक के मन का अंतिम संदेश दिया गया है. इस फिल्म का गाना 'कर चले हम फ़िदा जान-ओ-तन साथियों अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों' आज भी लोकप्रिय है. इसके बोल मशहूर गीतकार कैफ़ी आज़मी ने लिखा था और इसे आवाज मोहम्मद रफ़ी ने दी थी. ये गाना सुनकर देशभक्तों के अंदर जोश भर जाता है.


 

2. संदेशे आते हैं

 

1997 की फिल्म बॉर्डर आई थी.गाने का नाम संदेशे आते हैं' था. इस गाने में जावेद अख़्तर ने बताया है कि बारूदों के गोले,गोलियों की आकस्मिक बौछारें,चांद की छत्त, ऊबड़-खाबड़ ज़मीन के बीच जब किसी फ़ौजी को सैकड़ों किलो मीटर दूर उसके घर से संदेश मिलता होगा तब वह कैसे विचलित होता होगा. सैनिकों को समर्पित इस गाने को संगीत अनु मलिक ने दिया था. इस गाने को आवाज सोनू निगम व रूप कुमार राठौर ने दिया है. इस गाने को सुनकर आपके अंदर जोश भर जायेगा है.


 

3. तेरी मिट्टी

 

2019 में आई अक्षय कुमार की फिल्म केसरी का 'तेरी मिट्टी' गाना बेहद ही हिट हुआ था. देश के प्रति जान देने की भावना को इस गाने में बहुत ही खूबसूरत ढंग से दर्शाया गया है. इसे सुनकर एक अलग ही एनर्जी आती है.


 

4. चक दे इंडिया

 

2007 में आई शाहरुख खान की फ़िल्म चक दे इंडिया का टाइटल ट्रैक आज के दिन सुना जा सकता है. ये गाने को आवाज सुखविंदर ने दी है. यह गाना हर किसी को पसंद आता है.

 

 

5.ऐ वतन

 

2018 में आई फिल्म 'राजी' का 'ऐ वतन' गणतंत्र दिवस के लिए एक बेहतरीन गाना है. गाने को गुलज़ार ने लिखा है और संगीत शंकर-  एहसानलॉय ने दिया है. ये गाना सुनकर खड़े हो जाते हैं. 


 

6. अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों

 

2004 में आई फिल्म अब तुम्हारे हवाले वतन साथियों का ये गाना हर किसी को पसंद आता है.


 

7. मेरा रंग दे बसंती चोला

 

2002 में आई फिल्म द लीजेंड ऑफ भगत सिंह का गाना 'मेरा रंग दे बसंती चोला गीत'काफ़ी पॉपुलर गाना है. इस गाने को सोनू निगम और मनमोहन वारिस ने गाया है

 

.

 

8. ये जो देश है मेरा

 

शाहरुख़ की फिल्म स्वदेश का नाम नहीं हो, ऐसा नहीं हो सकता है. शाहरुख़ की फिल्म जो देशभक्ति को दर्शाती है, इस फिल्म का यह गाना "ये जो देश है मेरा" बेहद शानदार सॉन्ग है, जिसे ए आर रहमान ने गाया है.

 


 

अधिक खबरें
भारत का वो अनोखा रहस्यमयी मंदिर, जो हर दिन लेता है जलसमाधि
जून 20, 2024 | 20 Jun 2024 | 7:17 AM

हमारे देश में रहस्‍यों से भरे मंदिरों की कमी नहीं है. विश्व का सबसे अनूठा भारत का एक ऐसा मन्दिर जो हर दिन जलसमाधि लेता है और जल से वापस निकल भी जाता है इसकी कहानी महाभारत काल से जुड़ी हुई है. यह भगवान निक्कलंगेश्वर का मंदिर भावनगर, गुजरात के पास, अरब सागर के अंदर 1KM में स्थित है.

भगवान श्रीकृष्ण को प्रिय हैं ये पांच चीजें, घर में रखने से होती है समृद्धि और धन की प्राप्ति
जून 17, 2024 | 17 Jun 2024 | 10:05 PM

भगवान श्री कृष्ण को इस देश में काफी श्रद्धा से पूजा जाता है. उनकी पूजा करने का बेहद खास महत्व है. अपरंपार महिमा वाले श्री कृष्ण भक्तों की हर मनोकामना पूर्ण करते हैं. उनकी पूजा की विधि भी बिल्कुल सरल है. इसके लिए आपको रोजाना सुबह स्नान कर भगवान श्रीकृष्ण (Lord Krishna) की विधिपूर्वक पूजा करनी चाहिए. इसके बाद आपको कान्हा जी को प्रिय माखन, मिश्री, शहद समेत आदि चीजों का भोग लगाना चाहिए. धार्मिक मान्यता के अनुसार सच्चे मन से श्रीकृष्ण की उपासना करने से प्रभु की कृपा प्राप्त होती है. साथ ही जातक को मृत्यु लोक में सभी प्रकार के सांसारिक सुख प्राप्त होते हैं. भगवान श्रीकृष्ण के लिए कुछ चीजें बहुत प्रिय हैं, जिनको घर में रखने से सुख-समृद्धि और धन में वृद्धि होती है.

पूरी के जगन्नाथपुर मंदिर के तर्ज पर रांची में भी निकाला जाता है रथ यात्रा, जानिए क्या है इसका महत्व
जून 17, 2024 | 17 Jun 2024 | 2:53 AM

पूरी के जगन्नाथपुर मंदिर के तर्ज पर रांची के धुर्वा स्थित जगन्नाथपुर मंदिर में भी रथ यात्रा का आयोजन होगा. इसको लेकर तैयारी की जारी है. बता दें कि रथ यात्रा के दौरान 7 जुलाई को भगवान जगन्नाथ अपनी बहन सुभद्रा और बड़े भाई बलभद्र के साथ मौसीबाड़ी जाएंगे. इस रथ का निर्माण महावीर लोहरा अपने परिवार के साथ करते हैं. महावीर लोहरा के पूर्वज पीढ़ी दर पीढ़ी यह काम करते आ रहे हैं. रथ यात्रा के लिए भगवान जगन्नाथ, बलभद्र और देवी सुभद्रा के लिए तीन अलग-अलग रथों का निर्माण होता है. यात्रा में सबसे आगे भगवान बलभद्र, बीच में बहन सुभद्रा और सबसे पीछे भगवान जगन्नाथ का रथ निकलता है.

कौन हैं देश विदेश तक में प्रख्यात नीम करोली बाबा, जाने उनका जीवन परिचय
जून 15, 2024 | 15 Jun 2024 | 4:41 AM

चारों ओर पहाड़ों से घिरी वादियों के मनमोहक दृश्य को देखकर सभी लोग रोमांच से भर जाते हैं. इस रोमांच की ऊर्जा का कारण उत्तराखंड के नैनीताल स्थित कैंची धाम मंदिर है. इस मंदिर का अपना खासा महत्व है और यहां के नीम करौली बाबा को मानने वालों की संख्या अनगिनत है. यह देश ही नहीं विदेशों भी काफी लोकप्रिय हैं. वह अपने एक साधारण जीवन, पर उनके द्वारा किए गए चमत्कारों को आज भी भी याद किया जाता है. 15 जून को कैंची धाम के 60वां स्थापना दिवस मनाया जाता है. इस दिन बेहद उत्साह के साथ भंडारे का आयोजन किया जाता है. आइए जानते हैं नीम करोली बाबा के बारे में विस्तार से.

खालिस्तान, वर्तमान, इतिहास और भविष्य
जून 14, 2024 | 14 Jun 2024 | 5:51 PM

31 अक्टूबर 1984, स्थान नई दिल्ली का प्रधानमंत्री आवास. अचानक गोलियों की तड़तड़ाहट गूंजी और तात्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की उनके अंगरक्षकों ने उनके ही आवासीय परिसर में हत्या कर दी. घटना अप्रत्याशित थी. किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि एक प्रधानमंत्री की उनके ही अंगरक्षक हत्या करेंगे. ये सभी अंगरक्षक इंदिरा जी को बड़े प्रिय थे. इस घटना ने पूरे देश ही नहीं, पूरे विश्व को उद्वेलित कर दिया. आखिर इंदिरा गांधी की हत्या क्यों हुई? वे अंगरक्षक जो इंदिरा गांधी के सबसे वफादार थे अचानक विद्रोही क्यों हो गये?